प. बंगाल में भाजपा को सत्ता में आने से रोकने के लिए एक मजबूत विपक्ष का होना जरूरी है

 

– सुमंती एक्का, फांसीदेवा विधान सभा क्षेत्र से भाकपा(माले) प्रत्याशी

सुमंती एक्का महसूस करती हैं कि सरकार चाय मजदूरों की दुर्दशा के प्रति असंवेदनशील बनी रही है और उसने चाय बागान में न्यनतम मजदूरी कानून लागू करने की कभी कोशिश नहीं की. उन्होंने रोजगार के नुकसान, कृषि संकट, मूल्य वृद्धि और श्रम अधिकारों के क्षरण का हवाला दिया और भाजपा के खिलाफ ‘मजबूत एकताबद्ध प्रतिरोध’ का आह्वाव किया.

बिहार में निकली किसान संघर्ष यात्राएं

 

किसान नेता स्वामी सहजानंद सरस्वती के जन्म दिवस (महाशिवरात्रि, 11 मार्च 2021) को अखिल भारतीय किसान महासभा तथा भाकपा(माले) की ओर से किसान दिवस के रूप में मनाते हुए बिहार के दर्जनों जिला मुख्यालयों पर किसान मार्च निकाला गया. उस दिन पटना जिले के बिहटा में जहां सहजानंद सरस्वती का ‘सीताराम आश्रम’ अवस्थित है, एक किसान-मजदूर महापंचायत आयोजित हुई जिसे भाकपा(माले) महासचिव का. दीपंकर भट्टाचार्य के साथ ही अखिल भारतीय किसान महासभा व खेग्रामस नेताओं ने कई वरिष्ठ नेताओं ने भी संबोधित किया.

रोजगार के सवाल पर 15 मार्च को होगा विधानसभा मार्च

झारखंड में इनौस का ‘हेमंत सरकार वादा निभाओ, रोजगार कहां है ये बतलाओ’ अभियान

रोजगार के सवाल पर छात्र-युवाओं का आंदोलन लगतार तेज होता जा रहा है. बिहार में आइसा-इनौस द्वारा रोजगार, स्वास्थ्य व शिक्षा के सवाल पर विगत 1 मार्च को जुझारू विधानसभा घेराव किया गया. इसी तर्ज पर झारखंड के छात्र-युवाओं ने भी ‘हेमंत सरकार वादा निभाओ, रोजगार कहां है ये बतलाओ’ के केन्द्रीय आह्वान के तहत आगामी 15 मार्च को झारखंड विधानसभा के घेराव की तैयारी की है.

छात्र-युवाओं की शिक्षा-रोजगार यात्रा: करेंगे विधानसभा घेराव


‘नये बिहार के तीन आधार शिक्षा-स्वास्थ्य और रोजगार’ और ‘19 लाख रोजगार मांग रहा है नया बिहार’ – नारों के साथ आइसा-इनौस पूरे बिहार में 7 फरवरी से 15 फरवरी तक शिक्षा-रोजगार यात्रा निकाला है. रोजगार यात्रा की शुरूआत विगत 7 फरवरी 2021 को बिहार की राजधानी पटना स्थित पटना विश्वविद्यालय से की गई. इस मौके पर आइसा-इनौस नेताओं के साथ ही भाकपा(माले) के सभी नवनिर्वाचित विधायक भी मौजूद थे.

किसान नेताओं का भोजपुर में स्वागत


18 जनवरी 2021 को उड़ीसा से किसान नेता अक्षय कुमार और हिमांशु तिवारी के नेतृत्व में चला संयुक्त किसान संघर्ष मोर्चा का कारवां भोजपुर पहुंचा. अखिल भारतीय किसान महासभा की ओर से आरा व जगदीशपुर में किसान कारवां में शामिल नेताओं के स्वागत में जनसभाओं का आयोजन किया गया. किसान नेताओं ने जगदीशपुर में देश के प्रथम स्वतंत्रता संग्राम के अगुआ वीर कुंअर सिंह की मूर्ति पर माल्यार्पण किया. अखिल भारतीय किसान महासभा की ओर से वीर कुंअर सिंह का चित्रा व किसान महासभा का झण्डा प्रतीकस्वरूप भेंट किया गया.