अयोध्या भूमि खरीद में भ्रष्टाचार की उच्च स्तरीय जांच हो

भाकपा(माले) की उत्तर प्रदेश राज्य इकाई ने 23 दिसंबर 2021 को एक बयान जारी कर कहा है कि योगी सरकार अयोध्या में भूमि खरीद में बड़े पैमाने पर हुए भ्रष्टाचार की जांच का नाटक कर रही है. पार्टी ने कहा है कि भाजपा के नेता और आला नौकरशाह इस भ्रष्टाचार और धोखाधड़ी में शामिल हैं. इसकी जांच विशेष सचिव स्तर के अपने एक अधिकारी को देकर दरअसल प्रदेश सरकार जांच का दिखावा कर रही है और विधानसभा चुनाव की पूर्व बेला में सच को सामने आने नहीं देना चाहती है.

ढोंग है नीतीश कुमार का समाज सुधार

भाकपा(माले) के बिहार राज्य सचिव कुणाल ने विगत 21 दिसंबर 2021 को एक बयान जारी कर पूछा है कि भाजपा जैसी सांप्रदायिक-विभाजनकारी ताकतों के साथ गलबहियां किए हुए नीतीश कुमार आखिर कौन सी समाज सुधार यात्रा करने वाले हैं? नफरत फैलाना, हिंदु-मुस्लिम के नाम पर समाज को विभाजित करना, वैज्ञानिक चिंतन को खत्म करके समाज में अंधविश्वास व पाखंड फैलाना, महिलाओं की आजादी को हर प्रकार से नियंत्रित करना आदि ही भाजपा के काम हैं. ऐसे में नीतीश कुमार का समाज सुधार यात्रा का दावा खोखला नहीं तो और क्या है?

सरना धर्म कोड का प्रावधान करे सरकार

भाकपा(माले) की झारखंड राज्य इकाई और नवगठित आदिवासी संघर्ष मोर्चा ने विगत 24 दिसंबर 2921 को झारखंड के राज्यपाल को एक पत्र भेजकर 2021 की जनगणना में राज्य के आदिवासियो के लिए अलग सरना धर्म कोड का प्रावधान सुनिश्चित करने की मांग की है.

पंचायत चुनावों में उल्लेखनीय जीत

आदिवासियों का एक ही नारा, जल जंगल जमीन है हमारा!’ इस नारे के साथ कापरडा व धरमपुर तालुका, जिला- वलसाड, गुजरात में भारत की कम्युनिस्ट पार्टी (माले) नेतृत्व में ग्राम पंचायत का चुनाव लड़ा गया है.

इस चुनाव प्रचार के हर कदम पर माले कार्यकर्ताओं ने भाजपा-बजरंग दल और कहीं कहीं कांग्रेसी (कोंगी) गुंडों के विरोध व धमकियों का डटकर सामना किया है और साहस के साथ इस क्षेत्र में आदिवासियों के वन अधिकार तथा अन्य सवालों पर भाकपा(माले) द्वारा किये गए कठिन संघर्ष का लेखा-जोखा आम लोगों के सामने प्रस्तुत किया गया.

फर्जी मुकदमे के खिलाफ आंदोलन

गोपालगंज जिले में इनौस के राज्य उपाध्यक्ष व भोरे विधानसभा क्षेत्र से भाकपा(माले) प्रत्याशी जितेंद्र पासवान को फर्जी तरीके से हत्या के एक मामले में फंसा दिया गया है. यह मामला विजयीपुर थाना के कोरेया ग्राम निवासी अटल पांडेय नामक एक दबंग व अपराधी चरित्र के व्यक्ति की हत्या से जुड़ा है. पांडेय परिवार ने चार माह पहले अपने ही गांव के संजय यादव व वकील यादव को खेत की मेंड़ तोड़ने का बहाना बनाकर बुरी तरह पीटा था. विदित हो कि पांडेय परिवार ने पुरैना गांव के मुन्ना पांडेय (20 वर्ष) की हत्या कर दी थी.

18 दिसंबर 2021 : संकल्प दिवस

का. विनोद मिश्र की स्मृति में देश भर में संकल्प सभाओं का आयोजन

किसान आंदोलन की ऐतिहासिक जीत को मजबूत बनाने और फासीवाद के खिलाफ संघर्ष तेज करने का आह्वान

विगत 18 दिसंबर 2021 को भाकपा(माले) कह कतारों द्वारा देशभर में संकल्प दिवस का पालने करते हुए भाकपा(माले) के दिवंगत महासचिव कामरेड विनोद मिश्र की स्मृति में संकल्प सभाओं, बेठकों, कन्वेंशन और सेमिनारों, प्रशिक्षण शिविरों व पार्टी क्लास जैसे विविध कार्यक्रम आयोजित किए गए.

लखीमपुर खीरी में किसान यात्रा निकालने से पहले कई नेता नजरंबद


अजय मिश्रा टेनी की बर्खास्तगी और तीन कृषि कानूनों को निरस्त करने की मांग को लेकर अखिल भारतीय किसान महासभा की पूर्वघोषित यात्रा को रोकने के लिए योगी सरकार ने ऐपवा प्रदेश अध्यक्ष कामरेड कृष्णा अधिकारी व जिला अध्यक्ष आरती राय और किसान नेता कमलेश राय समेत कई नेताओं को घर में ही नजरबंद कर लिया है. यह यात्रा 11 नवम्बर को लखीमपुर खीरी के खजुरिया से शुरू होकर पलिया होते हुए 13 नवम्बर को निघासन में एक बड़ी सभा करके समाप्त होने वाली थी.

हिरासती मौत की न्यायिक जांच हो - डाॅ. कफील खान की बर्खास्तगी वापस हो


भाकपा(माले) की उत्तर प्रदेश राज्य कमेटी ने दो अलग अलग बयान जारी कर कासगंज जिले के थाना कोतवाली की हिरासत में 22 वर्षीय युवक अल्ताफ की मौत मामले में पुलिस कर्मियों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कर घटना की न्यायिक जांच करने तथा डाॅ. कपफील खान की बर्खास्तगी को अन्यायपूर्ण बताते हुए उसे रद्द कर उन्हें चिकित्सक पद पर बहाल करने की मांग की है.

पार्टी ने कहा कि कासगंज मामले में मृतक के पिता के बयान से यह हिरासत में हत्या की घटना लगती है, जिसकी त्वरित व निष्पक्ष जांच कराकर दोषी पुलिस वालों को सख्त सजा दी जानी चाहिए.