दरभंगा में कुलपति के समक्ष प्रदर्शन

फीस वृद्धि वापस लेने, पीजी-यूजी में सीट बढ़ाने, दूरस्थ शिक्षा निदेशालय का स्कूल गुरु से असंवैधानिक समझौता को रद्द करने, दूरस्थ शिक्षा निदेशालय में सहायक कुलसचिव की फर्जी बहाली को रद्द करने, छात्र-छात्राओं के अनुपात में विवि व महाविद्यालय में हाॅस्टल बनाने, छात्रओं से एडमिशन के नाम पर लिए गए पैसे वापस करने सहित 25 सूत्री मांगों को लेकर सोमवार को ऑल इंडिया स्टूडेंट्स एसोसिएशन (आइसा) के द्वारा विगत 9 सितंबर 2019 को ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय पर आक्रोशपूर्ण प्रदर्शन किया गया. आइसा के बैनर तले एकत्र हुए छात्रों ने अपनी मांगों सं संबंधित नारा लगाते हुए एमएलएसएम कालेज से आयकर चौक, भोगेन्द्र झा चौक, श्याम मंदिर होते हुए विवि मुख्यालय तक प्रतिवाद मार्च निकाला और विवि मुख्यालय पहुचंकर जोरदार प्रदर्शन किया.

आइसा राज्य उपाध्यक्ष सुनील कुमार की अध्यक्षता में हुई सभा को संबोधित करते हुए विश्वविद्यालय संयोजक संदीप कुमार चौधरी, प्रदेश सहसचिव वतन कुमार व राज्य उपाध्यक्ष सुनील कुमार ने कहा कि एक ओर नीतीश सरकार छात्रओं और एससी/एसटी के छात्रों के लिए मुफ्त शिक्षा की बात करती है, वहीं दूसरी ओर एलएनएमयू में छात्रओं और एससी/एसटी से नामांकन शुल्क लिया जा रहा है. सरकार को यह सुनिश्चित करना होगा कि बिहार के सारे विश्वविद्यालयों में यह तत्काल बंद हो और मुफ्त में शिक्षा देने की बात की गारंटी हो. छात्र नेताओं ने दूरस्थ शिक्षा निदेशालय का स्कूल गुरु से हुए नियम विरूद्ध समझौता व दूरस्थ शिक्षा में सहायक कुलसचिव की फर्जी बहाली पर सवाल उठाते हुए अधिकारियों पर मनमानी करने का आरोप लगाया. उन्होंने समस्तीपुर में जल्द पीजी की पढ़ाई शुरू करने की मांग की. विवि प्रशासन द्वारा वार्ता नही करने से आक्रोशित छात्रों ने जोरदार नारों के बीच कुलपति गेट के सामने ही कुलपति का पुतला दहन किया.

– प्रिंस राज

lalit mohan

 

वर्ष28
अंक39