Press Release

सुकमा में 22 जवानों की हत्या पर भाकपा माले का बयान

 

5 अप्रैल 2021

छत्तीसगढ़ के बीजापुर जिले के सुकमा में केंद्रीय सुरक्षा बलों के 22 जवानों की हत्या निन्दनीय व दुखद घटना है। मारे गए जवानों के परिजनों के प्रति हम गहरी संवेदनायें व्यक्त करते हैं। रिपोर्टों के अनुसार इस हमले में शामिल 15 माओवादी भी मारे गए।

संगीत सोम के खिलाफ कुख्यात मुजफ्फरनगर दंगे में पुलिस एसआईटी की क्लोजर रिपोर्ट कोर्ट द्वारा स्वीकारना दुर्भाग्यपूर्ण

 

10 मार्च, लखनऊ, भाकपा (माले) की राज्य इकाई

दंगा पीड़ितों को न्याय सुनिश्चित किया जाए, मामले की न्यायिक जांच हो

लखनऊ, 10 मार्च. भाकपा (माले) की राज्य इकाई ने 2013 के कुख्यात मुजफ्फरनगर दंगे में सरधना के बीजेपी विधायक संगीत सोम के खिलाफ दर्ज मामले में पुलिस एसआईटी की क्लोजर रिपोर्ट को एक विशेष न्यायालय द्वारा स्वीकार लेने को दुर्भाग्यपूर्ण करार दिया है.

भारत के नागरिकों को आन्‍दोलनजीवी होने पर गर्व है!

 

मोदी राज के छ: साल नागरिक स्‍वतंत्रता, भारत के संविधान और लोकतंत्र पर अनवरत हमले के साल रहे हैं. प्रधानमंत्री मोदी ने 8 फरवरी को संसद में बोलते हुए प्रदर्शनकारियों और विरोधियों को ‘परजीवी’ बता अपनी असल मंशा को स्‍पष्‍ट कर दिया है.

विरोध करने वाली जनता को अमानवीय और खलनायक बताने वाली भाषा दुनिया भर के निरंकुश तानाशाहों की भाषा रही है. यह जनसंहार की ओर ले जाने वाली भड़काऊ भाषा है.

बजट 2021 कम्पनी राज को बढ़ाने वाला और आर्थिक पुनर्जीवन व जनता की रोजी-रोटी की गारंटी मांगों के साथ विश्वासघात है

 

कोविड महामारी के बाद आये मोदी सरकार के पहले बजट में खतरनाक रूप से नीचे गिर रही अर्थव्यवस्था को दुरुस्त करने की दिशा में कोई कोशिश नहीं की गई है.  न ही इसमें नौकरियां खो चुके और आय व जीवनयापन के स्तर में भारी गिरावट से परेशान लोगों के लिए कोई तात्कालिक राहत दी गई है. उल्टे इसमें संकटग्रस्त अर्थव्यवस्था के बोझ को जनता के कंधों पर डाल बड़े काॅरपोरेटों के लिए अकूत सम्पत्ति जमा करने के और अवसर बना दिये गये हैं.

गणतंत्र दिवस पर किसानों की परेड में शामिल हों!

 

22 जनवरी 2021

26 जनवरी को किसानों द्वारा आयोजित होने वाली परेड में शामिल होना गणतंत्र दिवस 2021 मनाने का सबसे बेहतरीन तरीका होगा. किसान और खेतिहर कामगार भारत के गणतंत्र के निर्माता 'हम भारत के लोग' का सबसे बड़ा हिस्सा हैं.

किसान आन्दोलन के बारे में सर्वोच्च न्यायालय के आदेश पर भाकपा(माले) का वक्तव्य


12 जनवरी 2021

जिन तीन कृषि कानूनों को रद्द करने की मांग किसान कर रहे हैं उन पर सर्वोच्च न्यायालय ने स्थगन आदेश दिया है, और साथ ही केन्द्र सरकार एवं किसानों के बीच वार्ता करने के लिए एक चार सदस्यीय पेनल की घोषणा की है.

बिहार चुनाव के बारे में भाकपा (माले) का बयान

 

13 नवंबर, 2020

कोविड-19 की छाया और क्रूर व भयानक लॉकडाउन के बाद बिहार विधान सभा का चुनाव देश में पहला बड़ा चुनाव था.इस चुनाव में राजग ने भले ही बहुत कम अंतर से जीत हासिल कर ली हो लेकिन इस चुनाव ने उन सभी लोगों के लिए बहुत उत्‍साहजनक संदेश भेजा है जो लोग जनता की जीविका, सम्‍मान और अधिकारों के लिए संघर्ष कर रहे हैं.इस चुनाव ने भविष्‍य में भी भारत के धर्मनिरपेक्ष, लोकतांत्रिक गणराज्‍य बने रहने की उम्‍मीद बरकरार रखी है.