झारखंड के रामगढ़ जिला के पड़रिया ग्राम के निवासी का. राजदेव बेदिया (उम्र 63 वर्ष) का दिनांक 1 फरवरी 2021 को निधन हो गया. वे लिवर कैंसर से पीड़ित थे और महीनों से हाॅस्पीटल में ईलाजरत थे.

वे पड़रिया ग्राम में भाकपा(माले) की बुनियाद डालने वाले एक मजबूत कार्यकर्ता थे. इन्होंने 1980 के दशक में गांव में सामंती उत्पीड़न के खिलाफ ग्रामीण गरीबों को संगठित करने में महत्वपूर्ण योगदान किया था. साथ ही, वे सिरका-अरगडा कोलियरी में रोजगार के लिए संघर्ष की भी अगुवाई किए थे. वे अभी ग्रामीण विकास में लूट करने वाले नए बिचैलियों के खिलाफ ग्रामीणों को संगठित कर रहे थे तथा गांव के सामूहिक विकास के सवाल को एक मात्रा संघर्ष के रास्ते पर ही हल करने के लिए लोगों को गोलबंद करने की कोशिश कर रहे थे.

ग्रामीणों की उपस्थिति में भाकपा(माले) के जिला सचिव भुनेश्वर बेदिया, लाका बेदिया, रामबृक्ष बेदिया, प्रयाग बेदिया, जयनंदन गोप, लालचंद बेदिया, धनेलाल बेदिया, सरयू बेदिया, जयवीर हांसदा, करमा मांझी, महादेव मांझी अन्य सभी ने उन्हें लाल झंडे के साथ सलामी देते हुए एक मिनट का सामूहिक श्रद्धांजलि दी.