28 फरवरी 2021 को गया में बिहार राज्य स्थानीय निकाय कर्मचारी महासंघ द्वारा ‘निकाय कर्मियों की दशा दिशा’ पर कन्वेंशन संपन्न हुआ. इसकी अध्यक्षता संयुक्त रूप से कामरेड अर्जुन सिंह व इंद्रदेव प्रसाद ने की. शोक  श्रद्धांजलि देने के बाद महासचिव श्याम लाल प्रसाद द्वारा कन्वेंशन का आधार पत्र प्रस्तुत किया गया.

आधार पत्र में भाजपा नेतृत्व में एनडीए के केंद्र-राज्य सरकारों द्वारा शहरी निकाय के दैनिक-संविदा कर्मियों को ठेकेदारों के जिम्मे करने, अभी तक छठे-सातवें वेतन पुनरीक्षण आदि 11 सूत्री मांगे लंबित रखने, 4 श्रम कोड व 3 कृषि कानून लाने तथा जन विरोधी व काॅर्पाेरेट परस्त नीतियों की निंदा की गई  तथा ‘संघर्ष के लिए एक हों, जीतने के लिएष् खुद व संयुक्त संघर्ष करें’ अभियान के तहत 10 से 11 अप्रैल 2021 को सिवान में आयोजित राज्य सम्मेलन को सफल बनाने का आह्वान किया गया.

नगर निगम के दैनिक-संविदा व नियमित कर्मचारियों की मांगों पर 19 जनवरी 2019 को महापौर/उपमहापौर/ नगर आयुक्त, लेखा पदाधिकारी व प्रधान लिपिक के साथ महासंघ के पदाधिकारियों के साथ द्विपक्षीय वार्ता में दैनिक /संविदा दैनिक कर्मियों को पहचान पत्र देने, ईपीएफ को नियमानुसार लागू करने, पांचवें व छठे वेतन पुनरीक्षण का बकाया अंतर वेतन देने, दैनिक श्रमिकों को चिकित्सा भत्ता व उपार्जित अवकाश देने, सातवें वेतन पुनरीक्षण लागू करने आदि समझौतों को 2 वर्ष के बाद भी लागू नहीं करने तथा कोरोना महामारी में जलापूर्ति शाखा कर्मियों को साप्ताहिक अवकाश, वर्दी, प्रोत्साहन भत्ता व पहचान नहीं देना व नैली में 7 वर्षों से कार्यरत 10 कर्मियों को मौखिक फरमान जारी कर सेवा से हटाने की घोर भतर्सना की गई. 30 मार्च तक इन मांगों की पूर्ति करने की मांग की गई और अगर ऐसा नहीं हुआ तो संघर्ष करने की घोषणा की गई.

कन्वेंशन के मुख्य अतिथि कामरेड अशोक राय (राज्य उपाध्यक्ष सह महासचिव मुजफ्फरपुर नगर निगम कामगार यूनियन) व दसई राम (राज्य नेता), महासंघ के प्रतिनिधि विनय कुमार सिंह, सुजीत कुमार, अजहर इमाम, गुलाम सरवर, शंकर प्रसाद, अंगद कुमार के अलावे भाकपा(माले) के जिला सचिव कामरेड निरंजन कुमार, बिहार राज्य शिक्षा परियोजना परिषद कर्मचारी संघ के महासचिव काॅ. शिवशंकर प्रसाद, बिहार राज्य अराजपत्रित कर्मचारी महासंघ गोप गुट अध्यक्ष दिनेश प्रसाद सिन्हा, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग कर्मचारी संघ के नेता काॅ. नागेश्वर राम, गवर्नमेंट प्रेस कर्मचारी संघ के महासचिव काॅ. लखन दास, बिहार राज्य निर्माण मजदूर यूनियन के संयोजक काॅ. आनंद कुमार तथा बंदोबस्त सह चकबंदी कर्मचारी संघ के नेता काॅ. प्रेम किशोर प्रसाद आदि ने आधार पत्र पर अपने विचार रखे. अंत में सर्वसम्मति से आधार पत्र को स्वीकृत किया गया.