विभूतिपुर में प्रखंड मुख्यालय पर प्रदर्शन: 25 फरवरी 2021 को विभूतिपुर में प्रखंड मुख्यालय पर भाकपा(माले) के नवनिर्वाचित प्रखंड सचिव अजय कुमार के नेतृत्व में प्रदर्शन व सभा आयोजित की गई. प्रदर्शन में किसान विरोधी तीन कृषि कानूनों वापस लेने, एमएसपी पर फसल खरीद की गारंटी वाला कानून बनाने, खाद्य सुरक्षा से वंचित परिवारों का नाम सूची में शामिल करने, जनवितरण प्रणाली में लूट-धांधली बंद करने, आंगनवाड़ी में पोषाहार वितरण की गारंटी करने, प्रखंड मुख्यालय में लचर स्वास्थ्य व्यवस्था को दुरूस्त करने, मनरेगा में प्रति वर्ष 200 दिन काम और 400 रुपये मजदूरी की गारंटी करने, समान स्कूल शिक्षा प्रणाली लागू करने, निःशुल्क शिक्षा की गारंटी करने, अनिवार्य वस्तुओं की बढ़ती मंहगाई पर रोक लगाने, डीजल, पेट्रोल और गैस की बढ़ी कीमत वापस लेने सहित तीस सूत्री मांग प्रस्तुत किया गया. सभा को काॅ. मंजू प्रकाश, काॅ. महावीर पोद्दार, काॅ. फूलबाबू सिंह और भाकपा(माले) के जिला सचिव काॅ. उमेश कुमार ने भी संबोधित किया.

पूर्व विधायक व वरिष्ठ कम्युनिस्ट नेता काॅ. रामदेव वर्मा सभा को संबोधित करते हुए सिंघिया में अपराधियों द्वारा ने गांव के ही युवक की हत्या, भुसवर में 481 लोगों के लिए पर्चा की जमीन के आवेदन समेत कई जनसमस्याओं को हल कराने के लिए आंदोलन तेज करने का आह्वान किया. प्रदर्शन में कपिलदेव महतो, राजीव कुमार, अनिल कुमार, लक्ष्मी नारायण सिंह, विनोद कुमार, शंभु राय, विपिन चौधरी, मेघन भगत, मनोज कुमार आदि ने भी नेतृत्वकारी भूमिका निभाई. 5-सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने प्रखंड विकास पदाधिकारी को मांग पत्र सौंपा.

खेग्रामस का उजियारपुर प्रखंड सम्मेलन: 21 फरवरी 2021 को उजियारपुर प्रखंड के हरपुर रेवाड़ी पंचायत भवन में अखिल भारतीय खेत एवं ग्रामीण मजदूर सभा (खेग्रामस) का दूसरा प्रखंड सम्मेलन संपन्न हुआ. इस अवसर पर खेग्रामस के राज्य सचिव व फुलवारी क्षेत्र के भाकपा(माले) विधायक काॅ. गोपाल रविदास ने कहा कि मजदूरों और किसानों के ऊपर पिछले किसी भी समय से ज्यादा खतरा मंडरा रहा है. 4 श्रम कोड व 3 काले कृषि कानून देश में 82 करोड़ लोगों की जान पर आफत हैं. बिहार सरकार गरीब-मजदूरों को राशन-किरासन, मनरेगा में काम, शिक्षा, स्वास्थ्य व बासगीत जमीन के अधिकार से वंचित कर रही है. इन सवालों पर खेग्रामस के द्वारा 3 मार्च को विधानसभा को घेरा जाएगा.

ललित पासवान और अमित कुमार राम की अध्यक्षता में हुए सम्मेलन को भाकपा(माले)जिला सचिव उमेश कुमार, माले नेता फूलबाबू सिंह, खेग्रामस जिलाध्यक्ष उपेन्द्र राय व सचिव जीबछ पासवान, माले प्रखंड सचिव महावीर पोद्दार, फूलेन्द्र प्रसाद सिंह, गंगा प्रसाद, रामप्रीत सहनी ने भी संबोधित किया. सर्वसम्मति से 21 सदस्यीय प्रखंड कमेटी का चुनी गई.

17-सूत्री मांगों को लेकर भूख हड़ताल: 25 फरवरी से ही उजियारपुर में सामुदायिक भवन, अंडाहा के समक्ष भाकपा(माले) जिला कमेटी सदस्य फिरोजा बेगम और विनोद राम द्वारा 17 सूत्री मांगों पर भूख-हड़ताल शुरू किया गया है. वहां लगातर जन सभा चल रही है. राशन वितरण में धांधली में धांधली, विकास योजनाओं में लूट तथा मनरेगा की राशि में फर्जीवाड़ा, सामाजिक सुरक्षा पेंशनों की बकाया राशि का भुगतान, आवास योजना में घुसखोरी आदि प्रमुख मुद्दे हैं.