भागलपुर के मायागंज में बर्बर पुलिस दमन व सिंचाई कर्मी संजय कुमार की पुलिस हिरासत में हुई हत्या के खिलाफ  विपक्षी दलों भाकपा(माले), माकपा, भाकपा, राजद व कांग्रेस के संयुक्त बैनर तले जिला पदाधिकारी, भागलपुर के समक्ष धरना-प्रदर्शन किया गया. धरना-प्रदर्शन की अध्यक्षता भाकपा(माले) राज्य कमिटी के सदस्य एसके शर्मा, माकपा के जिला सचिव दशरथ प्रसाद, राजद के जिला अध्यक्ष चन्द्रशेखर प्रसाद, कांग्रेस के जिला अध्यक्ष परवेज जमाल व भाकपा नेता छोटेलाल यादव ने संयुक्त रुप से किया. धरना का संचालन भाकपा(माले) नेता मुकेश मुक्त ने किया.

धरना के दौरान सभा को संबोधित करते हुए विपक्षी दलों के नेताओं ने मायागंज में वहशियाना पुलिस कार्रवाई व पुलिस कस्टडी में सिंचाई कर्मी संजय कुमार की बर्बर हत्या को बिहार में पुलिस राज की धमक बताया.

धरना सभा को भाकपा-माले के जिला सचिव बिंदेश्वरी मंडल, महेश यादव, रेणु देवी, कर्मचारी नेता श्यामनंदन सिंह, मृतक संजय कुमार की बड़ी बेटी मोनिका भारती आदि समेत अन्य नेताओं ने सम्बोधित किया.

एक प्रतिनिधिमंडल ने संजय कुमार के हत्या मामले में सिटी एएसपी पूरन झा और बरारी थाना प्रभारी प्रमोद साह को बर्खास्त कर उन्हें अविलम्ब गिरफ्तार करने व उन दोनों पर 302 का मुकदमा चलाते हुए कड़ी सजा दिलाने, मृतक के परिजनों को 50 लाख रुपया मुआवजा और आश्रित को सरकारी नौकरी देने, पुलिसिया वहशीपन को रोकने के लिए ठोस कदम उठाने और बिहार विशेष सशस्त्रपुलिस अधिनियम 2021 वापस लेने की मांग का ज्ञापन जिला पदाधिकारी को सौंपा.

मृतक की पत्नी गायत्री देवी, छोटी बेटी अंकिता रानी, भाकपा(माले) के नगर सचिव सुरेश प्रसाद साह, जिला कमिटी सदस्य पुरुषोत्तम दास व रणधीर यादव, अर्जुन प्रसाद यादव, नगर कमिटी सदस्य अमर कुमार व अमित गुप्ता, रविन्द्र कुमार रमन, प्रवीण कुमार, जैनी कुमारी आदि समेत सैकड़ों महिला-पुरुष धरना-प्रदर्शन में शामिल हुए.