विगत 5 जनवरी 2022 को भाकपा(माले) महासचिव कामरेड दीपंकर भट्टाचार्य के नेतृत्व में भाकपा(माले) के एक प्रतिनिधिमंडल की आगामी उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव में भाजपा को हराने के लिए विपक्षी एकता बनाने के उद्देश्य से समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के साथ वार्ता हुई.

बुधवार को सपा मुख्यालय में हुई इस वार्ता में भाकपा(माले) प्रतिनिधिमंडल ने सपा अध्यक्ष से कहा कि किसान आंदोलन से पैदा हुई ऊर्जा, रोजगार के सवाल, मजदूरों और स्किम वर्करों के संघर्ष, दमन और नफरत की राजनीति के खिलाफ लोकतंत्र के लिए जारी संघर्षों के आधार पर एक धारदार विपक्षी एकता बननी चाहिए ताकि आगामी विधानसभा चुनाव में भाजपा को शिकस्त दी जा सके. सपा अध्यक्ष ने इससे सहमति जाहिर की. दोनों दलों के नेताओं ने आगे भी वार्ता जारी रखने पर सहमति जतायी.

माले प्रतिनिधिमंडल में महासचिव के अलावा पोलित ब्यूरो सदस्य रामजी राय, राज्य सचिव सुधाकर यादव और केंद्रीय समिति सदस्य श्रीराम चौधरी शामिल थे.