350 गांवों में सड़क क्यों नहीं, जबाब दो!

13 अगस्त, 2022 को भाकपा(माले) के केन्द्रीय कमिटि सदस्य और पार्टी के विधायक का. विनोद कुमार सिंह के नेतृत्व में और जिला सचिव का. पूरन महतो की अध्यक्षता में जिला मुख्यालय गिरिडीह के झण्डा मैदान मे एक दिवसीय धरना दिया गया. धरना-सभा को संचालित कर रहे का.सीताराम सिंह ने धरनार्थियो को संबोधित करते हुए कहा कि आज जब देश मे आजादी के 75 वीं वर्षगांठ मनायी जा रहा है आरएसएस निर्देशित भाजपा की केन्द्रीय सरकार देश के मूलभूत सवालां को पर चुप है.

आजादी आंदोलन की विरासत और मौजूदा चुनौतियों पर नागरिक कन्वेंशन

आजादी के आंदोलन के दुश्मन आज सत्ता पर काबिज हैं जो अपने हिसाब से देश चलाना चाहते हैं :  दीपंकर भट्टाचार्य

आजादी की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर गया के बगीचा लॉन में विगत 22 सितंबर को ‘आजादी आंदोलन की विरासत और मौजूदा चुनौतियां’ पर एक नागरिक कन्वेंशन का आयोजन किया गया. भाकपा(माले) के महासचिव कामरेड दीपंकर भट्टाचार्य इसमें मुख्य वक्ता के बतौर शामिल हुए.

छात्रावास में घुसकर में दलित छात्रों पर जानलेवा हमला बर्दाश्त नहीं

विगत 19 सितंबर 2022 को पटना के महेन्द्रू स्थित डॉ. अंबेडकर दलित छात्रावास में घुसकर अपराधियों द्वारा पुलिस की मौजूदगी में दलित छात्रों पर जानलेवा हमला किया गया. इसमें तीन छात्रा गंभीर रूप से घायल हो गए.

रजवार विद्रोह की स्मृति में आयोजित आजादी संकल्प सभा में उमड़ा जनसैलाब

बिहार का गुमनाम रजवार विद्रोह इतिहास की किताबों में अब तक भले जगह हासिल नहीं कर सका हो, वह जन चेतना में ऐसा रचा-बसा और गहरे धंसा हुआ है कि उसकी ताकत का एहसास आज भी होता है. इसी कारण, जब आजादी के 75 साल : जन अभियान के तहत रजवार विद्रोह और उसके नायकों जवाहिर रजवार, ऐतवा रजवार, भोक्ता रजवार, कारू रजवार व अन्य शहीदों की स्मृति में एक कार्यक्रम आयोजित करने का निर्णय लिया गया तो उसे आम लोगों ने हाथो-हाथ लिया और वह एक जन कार्यक्रम में तब्दील हो गया.

दरभंगा में ‘गरीब बसाओ’ सम्मेलन

दलित-गरीब बस्तियों को उजाड़ने के खिलाफ सड़क से सदन तक उठेगी आवाज

दरभंगा जिले में दलित-गरीबों को बिना वैकल्पिक व्यवस्था किये बिना उजाड़ने, रजवाड़ा कांड की उच्च स्तरीय जांच करवाने, रजवाड़ा कांड में फंसाए गए निर्दाष भाकपा(माले) नेता को रिहा करने, रजवाड़ा कांड के जिम्मेवार मनीगाछी सीओ व बेनीपुर डीएसपी को मुअत्तल करने तथा कटैया व पोखराम टोला से उजाड़े गए गरीबों के पुनर्वास की व्यवस्था करने सहित अन्य सवालों पर विगत 21 सितंबर 2022 को दरभंगा जिले के बहादुरपुर प्रखंड अंतर्गत देकुली गांव में ‘गरीब बसाओ’ सम्मेलन का आयोजन किया गया.

ऐपवा-भाकपा(माले) जांच दल रिपोर्ट : दो सगी बहनों के साथ बलात्कार के बाद हत्या का मामला

विगत 14 सितंबर 2022 की शाम उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में दलित परिवार की दो सगी बहनों (17 व 15 वर्ष) के शव पास के गन्ने के खेत में पेड़ से लटकते मिले थे. घटना के तथ्यों का पता करने और पीड़ित परिवार से मिलने के लिए भाकपा(माले) और ऐपवा के संयुक्त जांच दल ने 17 सितंबर को  निघासन कोतवाली क्षेत्र के तमोलीन पुरवां नाम के इस गांव का दौरा किया. दस सदस्यीय जांच दल का नेतृत्व भाकपा(माले) की केंद्रीय समिति सदस्य व ऐपवा प्रदेश अध्यक्ष कृष्णा अधिकारी ने किया. दल ने घटनास्थल का दौरा कर पीड़ित परिवार से मुलाकात की, संवेदना जताई और घटना से जुड़े तथ्य जुटाए.

सफाई मजदूर एकता मंच ने किया प्रदर्शन

समान काम के लिए समान वेतन की गारंटी करो

प्रयागराज (उत्तर प्रदेश) में विगत विगत 15 सितंबर 2022 को सफाई मजदूर एकता मंच (संबद्ध एक्टू) द्वारा पत्थर गिरिजाघर धरना स्थल पर सफाई मजदूरों की विभिन्न समस्याओं को लेकर प्रदर्शन किया गया. प्रदर्शन का नेतृत्व कर रहे सफाई मजदूर एकता मंच के अध्यक्ष कामरेड राम सिया जी ने कहा कि नगर निगम में स्वास्थ्य विभाग में सफाई के काम में लगे सफाई कर्मचारी, ड्राइवर, डोर टू डोर कूड़ा उठाने वाले कर्मचारियों का हर तरह से उत्पीड़न किया जा रहा है.

सीतापुर : का. अर्जुनलाल रिहा हुए

भाकपा(माले) की उत्तर प्रदेश राज्य स्थायी समिति के सदस्य व सीतापुर जिले में हरगांव से निर्वाचित जिला पंचायत सदस्य कामरेड अर्जुनलाल साथियों सहित करीब पांच सप्ताह की कैद के बाद गत 19 सितंबर को सीतापुर जेल से रिहा हो गए.

स्वतंत्रता दिवस की पूर्व संध्या पर गिरफ्तारी?

बूंडू में डायन के नाम पर महिलाओं की नृशंस हत्या

6 सितंबर 2022 को बुंडू (रांची जिला) के सोनाहातु क्षेत्र के राणाडीह गांव में 3 महिलाओं को डायन बताकर के हत्या कर दिए जाने का एक नया मामला सामने आया. भाकपा(माले) और ऐपवा की पांच सदस्यीय जांच टीम पूरे मामले की जांच पड़ताल करने के लिए राणाडीह पहुंची. अभी तक इस मामले में तीनों महिलाओं के शव मिल चुके हैं. पुलिस ने कई गिरफ्तारियां की हैं.

किसान महासभा का 3रा मथुरा जिला सम्मेलन

5 सितम्बर 2022 को अखिल  भारतीय  किसान  महासभा  का तीसरा मथुरा जिला सम्मेलन जय हिंद मॉर्डन एकेडमी, कोसीकलां (मथुरा) में सम्पन्न हुआ. सम्मेलन की शुरूआत महासभा के तत्कालीन अध्यक्ष का. गेंदालाल द्वारा झंडारोहण और शहीद वेदी पर पुष्पांजलि से हुई.

सम्मेलन की अध्यक्षता का. गेंदालाल, व्रह्म  सिंह व नत्थीलाल पाठक के अध्यक्ष मंडल ने की. उदघाटन करते हुए प्रमुख शिक्षाविद डॉ. देवीचरन वर्मा और सम्मेलन के पर्यवेक्षक का. अफरोज आलम ने सरकार की किसान, मजदूर व जन विरोधी नीतियों से निर्णायक संघर्ष के लिए किसानों के संगठन की मजवूती को जरूरी बताया.