गिरफ्तारी के खिलाफ प्रदर्शन

विगत 14 मार्च 2020 को जिले के विभिन्न स्थानों से चलकर समस्तीपुर के मालगोदाम चौक पर जुटे भाकपा(माले) एवं खेग्रामस के सैकड़ों कार्यकर्ताओं ने जुलूस निकाला और उजियारपुर प्रखंड के भाकपा(माले) नेताओं एवं कार्यकर्ताओं पर पुलिसिया उत्पीड़न एवं झूठे मुकदमे में गिरफ्तारी का विरोध करते हुए उनपर लदे फर्जी मुकदमा (संख्या 242/17 एवं 327/18) को समाप्त करने की मांग की. सभी लोग अपने हाथों में झंडे, बैनर एवं मांगों से संबंधित नारे लिखी तख्तियां लिए हुए बाजार क्षेत्र के मुख्य मार्गाें और ओवरब्रिज चौराहा होते हुए पुलिस अधीक्षक कार्यालय पहुंचे और नारे लगाते हुए जोरदार प्रदर्शन किया. इस दौरान वे लगातार हो रही बारिश में भींगते भी रहे.

प्रदर्शन के दौरान पांच सदस्यीय प्रतिनिधिमंडल ने एसपी विकास वर्मन को स्मार पत्र सौंपा और झूठे मुकदमे को समाप्त करने, शराब माफिया-पुलिस-अपराधी गठजोड़ के संरक्षक दलसिंहसराय डीएसपी कुंदन कुमार, इंस्पेक्टर धर्मपाल, उजियारपुर थानाध्यक्ष शंभुनाथ सिंह व अंगारघाट के सब इंस्पेक्टर पर कानूनी कार्रवाई करने तथा झूठे मुकदमें में गिरफ्तार उजियारपुर माले प्रखण्ड सचिव महावीर पोद्दार समेत व अन्य कार्यकर्ताओं को रिहा करने की मांग की. प्रो. उमेश कुमार की अध्यक्षता में कचहरी गेट पर एक सभा का आयोजन किया गया जिसे उपेंद्र राय, जीवछ पासवान, सुरेंद्र प्रसाद सिंह, सत्यनारायण महतो, राजकुमार चौधरी, फिरोजा बेगम, मो. अलाउफद्दीन, मो. कमालुद्दीन, गंगा पासवान, मोफरमान, खुर्शीद खैर, सरफराज अहमद समेत अन्य नेताओं ने संबोधित किया. नेताओं ने कारबाई नहीं होने पर अगले सप्ताह से पुलिस अधीक्षक के समक्ष अनिश्चित कालीन अनशन आंदोलन करने की चेतावनी दी है.

protester

 

वर्ष - 29
अंक - 13
21-03-2020