27 फरवरी 2021 को, शहीद चंद्रशेखर आजाद के शहादत दिवस के अवसर पर केंद्रीय ट्रेड यूनियनों और राष्ट्रीय संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर छत्तीसगढ़ प्रगतिशील किसान संगठन और विभिन्न ट्रेड यूनियनों के प्रतिनिधियों ने दुर्ग (छत्तीसगढ़) के तीर्थराज पैलेस में किसान मजदूर एकता दिवस मनाया. कार्यक्रम को छत्तीसगढ़ प्रगतिशील किसान संगठन के अध्यक्ष आईके वर्मा, बद्रीप्रसाद पारकर व कल्याण सिंह ठाकुर, सीटू के शांत कुमार व डीव्हीएस रेड्डी, एक्टू के बृजेंद्र तिवारी व श्यामलाल साहू ने संबोधित करते हुए कहा कि सत्ता के अहंकार में डूबी केंद्र की मोदी सरकार ने संसद में बहुमत को अस्त्र और तीन कृषि कानून, चार लेबर कोड के शस्त्र से हमला कर दिया है. तीन माह के ऐतिहासिक किसान आंदोलन का सरकार पर कोई असर नहीं हुआ है और सरकार आंदोलन को कुचलने के लिये दमन का सहारा ले रही है. अनर्गल और निराधार आरोप लगाकर आंदोलन को बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा है, जिस प्रकार सीएए के खिलाफ आंदोलन में मुस्लिमों को निशाना बनाया गया था उसी प्रकार किसान आंदोलन के नेतृत्व के लोगों और समर्थकों को राष्ट्रद्रोह और सुरक्षा अधिनियम में बंदी बनाया जा रहा है, असहमति की आवाज को कुचलने के लिये सोशल मीडिया के नियमों में बदलाव किये गये है.

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए छत्तीसगढ़ श्रमिक मंच के संयोजक एड. राजकुमार गुप्त ने कहा कि खेत से किसानों को और उद्योगों से मजदूरों को बाहर करने की नीयत से तीन कृषि कानून और चार लेबर कोड बनाये गये हैं ताकि मानव श्रम के स्थान पर आर्टीफिशियल इंटेलीजेंस और रोबोट के माध्यम से कृषि और औद्योगिक उत्पादन किया जा सके और कार्पाेरेट को लाखों करोड़ रुपयों का मुनाफा अर्जित करने का अवसर मिले. कार्यक्रम में छत्तीसगढ़ प्रगतिशील किसान संगठन के संतु पटेल, हुकूम सिंह दिल्लीवार, जैतराम साहू, वेदनाथ हिरवानी, सीटू के एमआर पाटिल, एक्टू के अशोक मिरी, दीनानाथ प्रसाद, छत्तीसगढ़ श्रमिक मंच के सुभायु दास, पूरनलाल साहू, सुमित डहरे, भगतराम, कुंवर सिंह, कृष्णा साहू और नरेश वर्मा शामिल थे.


कोरबा में मजदूर-किसान एकता दिवस

छत्तीसगढ़ के कोरबा के घंटाघर चौक में श्रमिक एवं किसान संगठनों ने मिल-जुलकर मजदूर किसान एकता दिवस मनाया. कार्यक्रम में वक्ताओं ने मोदी सरकार की मजदूर व किसान विरोधी नीतियों के खिलाफ चल रहे संघर्ष को तेज करने व मजबूती प्रदान करने की बातें कही.

सभा को बीएल नेताम, भूपेंद्र गोंड़, शिव कुमार यादव, दिलेश उईके, भुवन सिंह कंवर, दिलेश्वर मन्नेवार, पूरन दास बघेल, मोहन चौहान, मनोज रजवाड़े आदि ने सम्बोधित किया. कार्यक्रम में काफी संख्या में लोग शामिल थे.


धनबाद में मजदूर किसान एकता दिवस

संयुक्त ट्रेड युनियनों के आह्वान पर 27 फरवरी 2021 को हिन्दुस्तान सोशलिस्ट रिपब्लिकन एसोसिएशन के प्रमुख शहीद चन्द्रशेखर आजाद के शहादत दिवस पर धनबाद (झारखंड) के लखीमाता कोलियरी (मुगमा एरिया, इसीएल) में ऐक्टू के बैनर तले मजदूर किसान एकता दिवस मनाते हुए मजदूरों की एक सभा आयोजित की गई.

 

Mazdur-Kinsan Ekta Diwas