विधानसभा का घेराव कर रहे हजारों छात्र-युवाओं पर बर्बर पुलिसया दमन के खिलाफ आइसा-इनौस ने 2-3 मार्च 2021 को राज्यव्यापी प्रतिवाद घेषित किया.

2 मार्च को को जहानाबाद में काको मोड़ पर नीतीश सरकार का पुतला दहन किया गया. मुजफ्फरपुर में हरिसभा चौक स्थित भाकपा(माले) कार्यालय से प्रतिवाद मार्च निकाला गया. हिलसा (नालंदा) में इंनौस नेताओं –रामदास अकेला, शैलेश यादव, ब्रह्मदेव बिंद व  राजेश रविदास के नेतृत्व में भाकपा(माले) कार्यालय से प्रतिवाद मार्च निकाल कर जोगीपुर मोड़ पर नीतीश कुमार का पुतला दहन हुआ.

3 मार्च को आइसा-आरवाइए के राज्यव्यापी प्रतिरोध के तहत पटना के कारगिल चौक पर नीतीश कुमार का पुतला दहन किया गया. समस्तीपुर में ‘रोजगार के बदले लाठी क्यों-नीतीश सरकार जवाब दो’, ‘19 लाख रोजगार-मांग रहा युवा बिहार’, ‘छात्र-नौजवानों के भविष्य पर हमला बंद करो’, ‘लाठी-गोली की सरकार नहीं चलेगी’, ‘पटना-दिल्ली खोलो कान-लेकर रहेंगे रोजगार’ आदि नारों के साथ मालगोदाम चौक स्थित भाकपा(माले) कार्यालय से प्रतिवाद मार्च निकालकर बाजार क्षेत्र होते हुए स्टेशन चौराहा पहुंचकर सभा की गई. आइसा जिलाध्यक्ष लोकेश राज की अध्यक्षता व इनौस जिला सचिव आशिफ होदा के संचालन में हुई सभा को भाकपा(माले) नेता सुरेन्द्र प्रसाद सिंह व आइसा जिला सचिव सुनील कुमार समेत कई लोगों ने संबोधित किया.  अंत में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पूतला फूंका गया.

भभुआ (कैमूर) में इनौस जिला संयोजक मनीष सिंह के नेतृत्व में नीतीश कुमार का पुतला दहन किया गया. भोजपुर जिले के गड़हनी में आइसा-इनौस और जितौरा बाजार (पीरो) में भाकपा(माले) ने नीतीश कुमार का पुतला दहन किया. दरभंगा के मब्बी व हायाघाट तथा दरभंगा शहर के कर्पूरी चौक पर आइसा-इनौस के नेतृत्व में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का पुतला दहन किया गया. भागलपुर के नौगछिया में इनौस-आइसा ने विरोध प्रदर्शन किया. गया काॅलेज, गया के खेल परिसर में आइसा नेत्री खुशबू कुमारी की अगुआई में मुख्यमंत्री का पुतला दहन  किया गया.