कमरतोड़ महंगाई व कोरोना महामारी के दौर में देश मे रिकार्डतोड़ बेरोजगारी से मजदूरों के समक्ष उपजे संकट के बीच नीतीश सरकार द्वारा 1 अप्रैल से बिहार में मात्र 7900 रु मासिक (26 दिन) की दर से 304 रु. प्रतिदिन न्यूनतम मजदूरी घोषित किए जाने के खिलाफ ऐक्टू व इससे जुड़े सुधा डेयरी के सप्लाई डिवीजन के मजदूरों ने 808 रु. न्यूनतम मजदूरी घोषित करने की मांग पर प्रदर्शन किया.

फुलवारीशरीफ में हुए इस प्रदर्शन का नेतृत्व ऐक्टू के राज्य सचिव सह सुधा डेयरी पटना जिला निजी वाहन चालक एवं कर्मचारी यूनियन अध्यक्ष रणविजय कुमार, ऐक्टू जितेंद्र कुमार, सुधा डेयरी पटना जिला निजी वाहन चालक एवं कर्मचारी यूनियन  महासचिव मनीष कुमार, रणजीत कुमार, डब्लू कुमार, बबलू कुमार, चंदन कुमार आदि नेता कर रहे थे.